Spread the love

 इस वक्त एक बड़ी खबर सामने आ रही है. मैट्रिक परीक्षा को लेकर बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने एक बड़ा फैसला लिया है. शुक्रवार को मैट्रिक परीक्षा की पहली पाली में ली गई सामाजिक विज्ञान की परीक्षा रद्द कर दी गई है. सोशल मीडिया में सोशल साइंस का क्वेश्चन वायरल होने पर बोर्ड ने यह बड़ा फैसला लिया है |

बिहार बोर्ड के मैट्रिक परीक्षा के दौरान सोशल साइंस के पेपर लीक होने के बाद बिहार बोर्ड ने बड़ा फैसला लेते हुए आज की प्रथम पाली की परीक्षा को रद्द  करने का फैसला लिया है. बिहार बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि जमुई जिला से या पेपर लीक हुआ था, ऐसे में जमुई जिला के डीएम और एसपी को कार्रवाई करने के आदेश दिए गए हैं.

आपको बता दें कि शुक्रवार को मैट्रिक के सामाजिक विज्ञान की परीक्षा में पहली पाली में कुल 846504 परीक्षार्थी शामिल हुए थे, जिनकी परीक्षा रद्द कर दी गई है. यह परीक्षा अब अगले महीने 8 मार्च को ली जाएगी. बोर्ड की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक जमुई जिले में क्रम संख्या 111-0470581 सोशल मीडिया में वायरल हुआ था. 

जाँच में स्पष्ट हुआ कि यह प्रश्न पत्र, जिसका क्रमांक-111-0470581 है, को जमुई जिले में भेजा गया था. जांच में यह पता चला कि क्रम संख्या 111-0470581 सामाजिक विज्ञान का प्रश्न पत्र जमुई के झाझा स्थित स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया के ब्रांच में रखा गया था. शुक्रवार को परीक्षा शुरू होने से पहले ही किसी ने फोटो खींचकर व्हाट्सएप पर उसे वायरल कर दिया.

आपको बता दें कि बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बजट सत्र के दौरान मैट्रिक परीक्षा पेपर लीक मामला सदन में उठाया था, जिसके बाद सरकार ने जांच के भरोसा दिया. खुद विधानसभा के अध्यक्ष ने इस पूरे मामले पर सरकार से जांच कर कार्रवाई करने का आदेश दिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.